भोपालमध्यप्रदेश

27 सीटों के उपचुनाव पर रणनीति बनाने नाथ के निवास पर बैठक

भोपाल
मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर कांग्रेस रणनीति फाइनल कर रही है। आज पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के नेतृत्व में उनके निवास पर सुबह करीब 11 बजे शुरू हुई इस बैठक में चुनावी रणनीतिक का ब्लू प्रिंंट तैयार किया गया।  इसके साथ ही सभी 27 विधानसभा सीटों की मौजूदा स्थिति, विधानसभा प्रभारियों से विधानसभा वार फीडबैक, आगामी रणनीति और भाजपा को जबाव देने की रणनीति पर चर्चा की गई।

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के निवास पर आज हुई बैठक में उपचुनाव क्षेत्र प्रभारियों के साथ बैठक में कमलनाथ नेताओं को जमीनी जिम्मेदारियां सौंपी गई है। इस दौरान उपचुनाव क्षेत्र की सर्वे रिपोर्ट भी साझा गई। मीटिंग के दौरान ही कमलनाथ के प्रचार करने का ड्रॉफ्ट तैयार किया गया। बैठक में तय हुआ कि लगातार जिम्मेदार नेता और प्रभारी उपचुनाव क्षेत्र में ही रहेंगे। जमीनी टीम के साथ कमलनाथ फोन और आॅनलाइन मीटिंग पर संपर्क में रहेंगे। इधर, मीडिया से चर्चा करते हुए नाथ ने कहा कि इस बात को छोड़िए ओर सुनिए की हम आज एक पेन ड्राइव जारी करने जा रहे हैं इस पेन ड्राइव में किसान कर्ज माफी का पूरा डाटा है। यह पेन ड्राइव भाजपा के आरोपों का जवाब देने के लिए तैयार हैं।  आगे कमलनाथ ने कहा कि हमने पिछले 4 महीनों में पूरा समय लगाकर अपने संगठन को मजबूत किया है। उन्होंने कहा की होने वाले उपचुनाव को मैं उपचुनाव और आम चुनाव नहीं मानता हंू यह चुनाव प्रदेश की प्रतिष्ठा का चुनाव है।

बैठक में कांग्रेस नेता सुरेश पचौरी, बाला बच्चन, सुख देव पांसे, कमलेश्वर पटेल, विजयलक्ष्मी साधौ, बृजेन्द्र सिंह राठौर, लखन यादव, जयवर्धन सिंह, ओमकार सिंह मरकाम, जीतू पटवारी, एनपी प्रजापति, लक्ष्मण सिंह, अजय सिंह, कांतिलाल भूरिया, राजेंद्र सिंह विशेष रूप से शामिल हुए।   

ग्वालियर-चंबल संभाग में भाजपा की सक्रियता के बीच अब कांग्रेस भी यहां शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रही है। ग्वालियर में सिंधिया के खिलाफ प्रदर्शन में भीड़ जुटने पर कांग्रेस के हौसले बढ़े हैं। ऐसे में पूरे जोश के साथ कांग्रेस अपनी रणनीति बना रही है। बताया जा रहा है कि जल्द कमलनाथ की एक सभा आयोजित की जाएगी। प्रभारी केके मिश्रा की इसकी तैयारियों में भी जुटे हैं।  इसके साथ ही क्षेत्रीय नेताओं को दिग्विजय सिंह ने एक मंच पर एकत्रित करने का काम शुुरू कर दिया है। कमल नाथ भी बैठकें लेकर मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close