भोपालमध्यप्रदेश

4 संभागों में टिड्डी दलों के नियंत्रण के लिये बड़े पैमाने पर छिड़काव

 भोपाल

प्रदेश के भोपाल, उज्जैन, सागर और जबलपुर संभागों में सक्रिय टिड्डी दलों के नियंत्रण के लिये बड़े पैमाने पर छिड़काव की कार्यवाही की गई है।

भोपाल संभाग के फंदा विकासखण्ड के भोपाल ईकोलॉजिकल पार्क में 8 फायर ब्रिगेड द्वारा तथा बैरसिया विकासखण्ड के कचनारिया, गोडिया, सनखेड़ा, चाकखेड़ा, हिरनखेड़ा, धामरा और खुलकारिया ग्रामों में 6 किलोमीटर लम्बे टिड्डी दल पर 8 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों और एक फायर ब्रिगेड द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव किया गया।

इसी तरह उज्जैन संभाग के शाजापुर जिले के कालापीपल विकासखण्ड के ग्राम खाटीखेड़ी एवं पडलिया ग्राम में रात्रिकालीन टिड्डी दल के ठहराव के मद्देनजर 6 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों और 2 फायर ब्रिगेड द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण की कार्यवाही की गई।

इसी प्रकार जबलपुर संभाग के बालाघाट जिले के किरनापुर विकासखण्ड के नकसी और मनगेतरा ग्राम में एक टिड्डी दल का रात्रिकालीन ठहराव हुआ, जिसका नियंत्रण 5 फायर ब्रिगेड द्वारा कीटनाशकों के छिड़काव से किया गया। जबलपुर संभाग के डिण्डोरी जिले के खाजरी, हाथकाटा, झिलमिली और चक्का ग्रामों में करीब 2 किलोमीटर लम्बा और 2 किलोमीटर चौड़ा टिड्डी दल रात्रि में रुका, जिस पर 5 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों और 2 फायर ब्रिगेड ने कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण किया।

इसके पूर्व रविवार को भी उपरोक्त भोपाल, उज्जैन, सागर और जबलपुर संभागों में भी टिड्डी दल के ठहराव को देखते हुए कार्यवाही की गई। विदिशा जिले के गंजबासौदा विकासखण्ड के बमली ग्राम में एक टिड्डी दल के ठहराव पर 2 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों और 2 पावर स्प्रेयर द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण की कार्यवाही की गई। भोपाल जिले के बैरसिया विकासखण्ड के कचनारिया, रामपुरा, बालाचोन, रोडिया, जापाड़िया, नलखेड़ा और हिरनखेड़ा ग्रामों में एक टिड्डी दल पर 3 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों तथा 4 फायर ब्रिगेड द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण की कार्यवाही की गई। इसी प्रकार उज्जैन संभाग के शाजापुर जिले के मोहनबारोदिया विकासखण्ड के नोलाया, खामखेड़ा एवं मोदीपुर ग्रामों में एक टिड्डी दल पर 2 ट्रेक्टर-चलित स्प्रे-पम्पों और 4 पावर स्प्रेयर द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण की कार्यवाही की गई। जबलपुर जिले के मझौली विकासखण्ड के जोली, उमरधा, रोसरा, बाहारकल, पोड़ापोड़ी, झुझारी, उमरिया, पाली और मझगाँव ग्राम में टिड्डी दल के रात्रिकालीन ठहराव को देखते हुए 3 फायर ब्रिगेड और 10 पावर स्प्रेयर द्वारा कीटनाशकों का छिड़काव कर नियंत्रण किया गया।

संचालक, किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने सभी जिलों के अधिकारियों को टिड्डी दलों की सतत निगरानी करने एवं नियंत्रण के लिये अनुभाग स्तर पर आवश्यक संसाधनों को एकत्रित करने के लिये निर्देशित किया है, ताकि टिड्डी दल के प्रवेश की सूचना प्राप्त होते ही उनको भगाने और रात्रिकालीन ठहराव की स्थिति में कीटनाशकों का छिड़काव कर टिड्डी दलों को नष्ट करने की कार्यवाही की जा सके।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close