गैजेट्सलाइफ स्टाइल

59 चीनी ऐप्स बैन, क्या ऐप करेंगे काम? लोग पूछ रहे ये सवाल

 
नई दिल्ली
 
भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप्स को बैन करने का ऐलान किया है. क्या ये ऐप्स अब आपके स्मार्टफोन में काम करना बंद कर देंगे?

जवाब है – अभी के लिए नहीं बंद होंगे. ऐप बैन और ब्लॉक दो चीजें हैं, जिन्हें पहले समझना होगा. इससे पहले भी चीनी ऐप्स भारत में बैन किए जा चुके हैं.

खबर लिखे जाने तक Android के गूगल प्ले स्टोर और Apple के ऐप स्टोर पर ये सभी 59 चीनी ऐप्स लाइव हैं. यानी अब भी यूजर्स इन्हें डाउनलोड कर सकते हैं. जो लोग ये ऐप यूज करते हैं उनके पास ये ऐप काम भी कर रहे हैं.

सरकार की रिक्वेस्ट के बाद कंपनियां कुछ समय लेती हैं और इसके बाद इन्हें ऐप प्लेटफॉर्म से हटाया जाता है.

सोशल मीडिया पर लोग लगातार ये सवाल पूछ रहे हैं कि ये किस तरह का बैन है. क्योंकि ऐप तो अब भी काम कर रहे हैं और ये अब तक प्ले स्टोर और ऐप स्टोर में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं तो फिर इसे कैसे बैन कहा जाए.

ऐप बैन करने की स्थिति में आम तौर पर सरकार की तरफ गूगल और ऐपल को अपने भारतीय ऐप स्टोर से इन ऐप्स को हटाने के लिए कहा जाता है. इसमें थोड़ा वक्त लगता है.

Tik Tok ऐप यूजर्स और कॉन्टेंट का क्या होगा?
एक बड़ा सवाल कॉन्टेंट को लेकर भी है. भारत में TikTok के करोड़ों यूजर्स हैं. ऐसे में टिक टॉक के वीडियोज कहां जाएंगे? यूजर्स टिक टॉक पर कॉन्टेंट से पैसे भी कमाते हैं उन यूजर्स का डेटा कहां रखा जाएगा?

गौरतलब है कि भारत में पहले भी कुछ चीनी ऐप्स को बैन किया गया है. इनमें Tik Tok भी है. तब भी बैन करने के बाद इसे गूगल प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटा दिया गया था. यानी कोई नया यूजर इसे इंस्टॉल नहीं कर सकता था.

यानी अगर इस बार पिछली बार की तरह ही सरकार बैन लगाती है तो आपके स्मार्टफोन का ऐप काम करता रहेगा. कॉन्टेंट भी अपलोड कर सकेंगे. लेकिन नया यूजर इसे डाउनलोड नहीं कर पाएगा. पिछली बार ये भी देखने को मिला था कि टिक टॉक ऐप को लोग एक दूसरे के साथ मोबाइल से शेयर करने लगे.

अब टिक टॉक को छोड़ कर दूसरे चीनी ऐप्स की बात करें तो शायद इन ऐप्स के साथ भी इसी तरह का नियम लागू होगा. यानी सरकार गूगल और ऐपल से इसे अपने ऐप प्लेटफॉर्म से हटाने के लिए कहेगी. प्ले स्टोर और ऐप स्टोर से हटाए जाने के बाद ये ऐप काम करता रहेगा.

पूरी तरह बैन होने पर ऐप्स यूज नहीं किए जा सकेंगे?
नहीं. अगर सरकार चाहे तो ये सभी 59 ऐप्स को पूरी तरह ब्लॉक कर सकती है. इसके लिए सरकार आईपी एड्रेस का सहारा ले सकती है. ऐसा करने से यूजर इन ऐप्स को यूज ही नहीं कर पाएंगे. हालांकि इन सब के बावजूद कई तरीके हैं जिनसे ये ऐप्स यूज किए जा सकते हैं जो ट्रिकी हैं.

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close