राजनीतिक

8 राज्यों की 19 राज्यसभा सीटों पर कल मतदान

नई दिल्ली

देश के 8 राज्यों के 19 राज्यसभा सीटों पर शुक्रवार को मतदान हैं. मध्य प्रदेश और गुजरात में कई विधायक कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे. ऐसे में कोरोना संक्रमित विधायकों के लिए चुनाव आयोग ने खास तैयारी की है. चुनाव आयोग ने इन विधायकों के लिए पोस्टल बैलेट सहित पीपीई किट में वोट डालने की सुविधा दी है.

गुजरात के बीजेपी के तीन विधायक संक्रमित पाए गए थे. इनमें नरोदा से बीजेपी विधायक बलराम थवानी, निकोल के बीजेपी विधायक जगदीश पंचाल और वेजलपुर सीट से बीजेपी विधायक किशोर चौहान को भी कोरोना की चपेट में आने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. इन तीनों विधायकों की रिपोर्ट निगेटिव आने से बाद अस्पताल से छुट्टी मिल गई है.

गुजरात में राज्यसभा चुनाव में एक-एक वोट के लिए संघर्ष चल रहा है. ऐसे में बीजेपी के लिए इन तीनों विधायकों का वोट काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है. चुनाव आयोग ने कोरोना की चपेट में आए विधायक के लिए वोटिंग देने की सुविधा दी है. इसके तहत तीनों विधायकों को पीपीई किट पहनकर वोट डालने होगा. साथ ही वोटिंग से पहले उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. इसके अलावा उनके वोट डालने के बाद पोलिंग बूथ को पूरी तरह सैनिटाइज किया जाएगा. हालांकि, चुनाव आयोग ने उन्हें पोस्टल बैलेट से भी मतदान करने की सुविधा दी है.

गुजरात ही नहीं बल्कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी कोरोना संक्रमित हैं. राज्यसभा चुनाव में कुणाल चौधरी को पीपीई किट पहनकर मतदान करना होगा. वोटिंग के दौरान उनके मतपत्र को अलग रखे जाने पर भी विचार किया गया है, जिससे मतपत्र गिनती में मतगणना कर्मचारियों को सुरक्षित रखा जा सके.

कोरोना संकट के बीच मध्य प्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों पर चार प्रत्याशी मैदान में हैं. कोरोना वायरस के चलते विधायकों के वोटिंग के लिए विधानसभा में विशेष इंतजाम किए गए हैं. शारीरिक दूरी का पालन कराने के लिए सेंट्रल हॉल में मतदान स्थल बनाया गया है ताकि विधायक एक दूसरे के संपर्क में न आ सकें.

इस दौरान वोटिंग करने वाले सभी विधायकों को मतदान के लिए स्वास्थ्य जांच कराई जाएगी. यदि किसी विधायक में कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं तो कुणाल चौधरी की तरह उन्हें भी विधानसभा के अस्पताल में बने वार्ड में क्वारनटीइन किया जाएगा. कोरोना संक्रमित विधायकों के मतदान की व्यवस्था शाम चार बजे के कुछ मिनट पहले की गई है, जिससे अन्य विधायकों का संपर्क उनसे नहीं हो सके.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close