राजनीतिक

BJP हरियाणा में सरकार बचाने में लगी ? पीएम मोदी से मिले दुष्यंत चौटाला, किसान आंदोलन पर हुई चर्चा

नई दिल्ली
केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में पिछले छह सप्ताह से जारी किसान आंदोलन के बीच हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिले। मुलाकात के दौरान दोनों के बीच किसान आंदोलन को लेकर चर्चा हुई। मंगलवार को चौटाला गृहमंत्री अमित शाह से मिले थे। चौटाला हरियाणा में बीजेपी सरकार में गठबंधन साझेदार जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के नेता हैं। ऐसा माना जा रहा है कि जेजेपी के कुछ विधायक प्रदर्शनकारी किसानों के दबाव में हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और चौटाला ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। बैठक के बाद खट्टर और चौटाला ने कहा था कि बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है और यह सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूरा करेगी। उन्होंने कहा था कि उन्होंने बैठक में राज्य में मौजूदा कानून-व्यवस्था की स्थिति के बारे में बातचीत की।

मंगलवार को अमित शाह से मुलाकात के बाद अमित शाह ने कहा कि प्रदेश में राजनीतिक स्थिति ठीक है। विपक्ष और मीडिया की अटकलें निराधार हैं। खट्टर ने कहा कि हमारी सरकार (बीजेपी-जेजेपी गठबंधन) मजबूती से चल रही है और अपना पांच साल का कार्यकाल भी पूरा करेगी। इससे पहले जेजेपी के विधायकों के एक ग्रुप ने कहा कि अगर केंद्र सरकार कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती है तो प्रदेश में गठबंधन सरकार को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। जेजेपी प्रमुख और उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करने के कुछ घंटे पहले विधायकों ने यह दावा किया। जेजेपी विधायक जोगी राम सिहाग ने कहा कि केंद्र को इन कानूनों को वापस लेना चाहिए क्योंकि हरियाणा, पंजाब और देश के किसान इन कानूनों के खिलाफ हैं। उन्होंने कहा कि हम दुष्यंत जी से आग्रह करेंगे कि हमारी भावनाओं से अमित शाह जी को अवगत करा दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close