उत्तर प्रदेशराज्य

CAA-NRC के खिलाफ प्रदर्शन करने वाली महिलाओं को नोटिस

लखनऊ

लखनऊ में घंटाघर पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ प्रदर्शन करने करने वाली महिलाओं को लखनऊ पुलिस ने नोटिस जारी किया है. सदफ जफर, मुनव्वर राणा की बेटी सुमैया राणा, उस्मा परवीन सहित अन्य महिलाओं को नोटिस जारी किया गया है.

यह नोटिस धारा 143, 147, 188, 353 आईपीसी में दर्ज मुकदमों के लिए भेजा गया है. पुलिस ने यह नोटिस सभी प्रदर्शन के दौरान लिखे गए मुकदमों में आरोप पत्र दाखिल करने के लिए 41-1 में जारी किया गया है.

गौरतलब है कि लखनऊ के घंटाघर पर महीनों तक सीएए-एनआरसी के खिलाफ धरना चला था और महिलाएं बैठी थीं. कोरोना वायरस के कारण धरने को स्थगित कर दिया गया था. धरने पर बैठीं महिलाओं का कहना था कि एक बार कोरोना का असर खत्म हो फिर हम दोबारा बैठेंगे.

इससे पहले 31 जनवरी को घंटाघर से प्रदर्शनकारी महिलाओं को हटाने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस ने नोटिस जारी किया था. यूपी पुलिस ने प्रदर्शनकारी महिलाओं के खिलाफ धारा-144 का उल्लंघन, यातायात बाधित और शांति व्यवथा में खलल डालने का नोटिस जारी किया था. यह नोटिस 50 से 100 महिलाओं को भेजा गया था.

जनवरी में सीएए और एनआरसी के खिलाफ घंटाघर में प्रदर्शन कर रही महिलाओं को पुलिस का नोटिस भेजा था. उनसे जल्द से जल्द घंटाघर का परिसर खाली करने को कहा गया था, अगर वे ऐसा नहीं करती हैं तो उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी. धारा 144 का उलंघन करने पर कार्रवाई के लिए नोटिस भेजा गया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close