भोपालमध्यप्रदेश

CM चौहान ने की UG-PG में जनरल प्रमोशन की घोषणा, डिग्री मान्य कराने होगी परीक्षा

भोपाल
विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यूजीसी ने सितंबर के अंत तक देशभर के सभी विवि को अंतिम वर्ष व सेमेस्टर में परीक्षाएं कराने के आदेश दिए हैं। जबकि सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यूजी-पीजी में जनरल प्रमोशन देने की घोषणा कर दी थी। जनरल प्रमोशन से पास विद्यार्थियों की डिग्री जीरो हो जाएंगी। क्योंकि यूजीसी उनकी डिग्री को मान्य नहीं करेगा। इसलिए अब सभी विश्वविद्यालयों को अपनी परीक्षाएं कराना होगी।

वर्तमान में करीब बीस लाख विद्यार्थी राज्य के करीब दो दर्जन सरकारी और दो दर्जन निजी विवि में अध्ययनरत हैं। मुख्यमंत्री चौहान की घोषणा के बाद उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, जनसंपर्क, कृषि, और संस्कृति विभाग अपने-अपने विवि में विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन देने की तैयारियों में जुटे हुए हैं। इसी बीच यूजीसी ने आदेश जारी कर दिया है कि देशभर के सभी कालेजों और विश्वविद्यालयों को सितंबर अंत तक अंतिम वर्ष और सेमेस्टर परीक्षाएं कराना होगी।

प्रदेश के विवि और कालेजों को अपने विद्यार्थियों की परीक्षाएं अनिवार्य हो गया है। परीक्षाएं नहीं होने की दशा में यूजी के विद्यार्थी की तीन साल और पीजी के विद्यार्थियों की दो साल की पढ़ाई जीरो हो जाएगी। क्योंकि यूजीसी उनके डिग्री को मान्य नहीं करेगा। इससे उनकी डिग्री सिर्फ एक रद्दी का टुकड़ा बनकर रह जाएगी। इसके चलते वे डिग्री के आधार पर किसी भी कंपनी में अपनी सेवाएं तक नहीं दे पाएंगे।

एनएसयूआई ने जारी यूजीसी की प्रतियां
एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी में यूजीसी के आदेश की प्रतियों को भोपाल में जलाया गया है। प्रवक्ता त्रिपाठी का कहना है यूजीसी ने तुगलकी फरमान जारी किया है। उन्हें अपने आदेश पर पुर्नविचार करना चाहिए। क्योंंकि विद्यार्थियों की परीक्षाएं कराने में विलंब कर रहा है। इससे विद्यार्थियों का एक साल बर्बाद हो रहा है।

सात विभागों के दो दर्जन विवि
प्रदेश में उच्च शिक्षा विभाग के 13 विवि और तकनीकी शिक्षा विभाग में आरजीपीवी के अलावा अन्य विभागों में यूजी पीजी की पढ़ाई होती है। साथ ही  जनसंपर्क विभाग में एमसीयू, संस्कृति विभाग में संस्कृत विवि और सांची विवि, कृषि विभाग में जबलपुर और ग्वालियर के कृषि विवि, पशुपालन विभाग में विटनरी विवि और मेडिकल शिक्षा विभाग की मप्र आर्युविज्ञान विवि में विद्यार्थी पढ रहे हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close