उत्तर प्रदेशराज्य

CM योगी का निर्देश टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 25 हजार टेस्ट प्रतिदिन कि जाए

लखनऊ

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलाधिकारियों और मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को बड़े स्तर पर मेडिकल स्क्रीनिंग अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने निर्देश में कहा है कि लगभग एक लाख से अधिक टीम बना कर मेडिकल स्क्रीनिंग की कार्रवाई की जाए. उन्होंने जल्द से जल्द कोविड हेल्प डेस्क बनाने का भी निर्देश दिया है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश में कहा कि टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाकर 25 हजार टेस्ट प्रतिदिन किया जाए. इसके साथ ही वैकल्पिक टेस्टिंग व्यवस्था के तहत एंटीजन टेस्ट को जरूरत के हिसाब से अपनाए जाने पर विचार किया जाए. मुख्य चिकित्सा अधिकारी के साथ तालमेल कर पूरी चिकित्सा व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए हर जिले में विशेष सचिव स्तर का एक अधिकारी तैनात किया जाए. 11 जनपदों में भेजे गए नोडल अधिकारियों की रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए. प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था को बेहतर बनाने में सहयोग के लिए स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग की ओर से योग्य, अनुभवी और वरिष्ठ स्वास्थ्य विशेषज्ञों की टीम तैयार करने की बात कही गई है.

मुख्यमंत्री के निर्देश में कहा गया है कि चिकित्सालयों के होल्डिंग एरिया में भीड़ जमा न होने दी जाए. पीएसी वाहिनी जैसे स्थान, जहां सामूहिक रूप से लोगों को रहना पड़ता है, वहां दो गज की दूरी के नियम का अनिवार्य रूप से पालन कराया जाए. लोगों को यह बताना जरूरी है कि कोरोना से घबराने की जरूरत नहीं है. अटल भूजल योजना के तहत तालाब खोदने, चेक डैम के काम मनरेगा के तहत करवाए जाएं. गोवंश में होने वाले खुरपका, मुंहपका रोग के बारे में पशुपालन विभाग की ओर से सतर्कता बरतते हुए इस रोग के नियंत्रण के लिए टीकाकरण का काम शुरू किया जाए. सड़क दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए पुलिस और परिवहन विभाग की ओर से प्रभावी कार्रवाई की जाए. किसी भी आपराधिक घटना पर प्राथमिक स्तर पर प्रभावी कार्रवाई हो. सभी बैंक सुरक्षा संबंधी मानकों का हर हाल में पालन करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close