देश

LAC पर तनाव कम होने की बजाय बढ़ता जा रहा, भारत ने एयर डिफेंस मिसाइलों को किया तैनात

 नई दिल्ली 
भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में तनाव कम होने की बजाय बढ़ता जा रहा है। लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर चीन के लड़ाकू विमानों और हेलीकॉप्टर्स की बढ़ती गतिविधियों के बीच भारत ने अत्याधुनिक एयर डिफेंस मिसाइलों को पूर्वी लद्दाख में तैनात कर दिया है। यदि चीन के किसी विमान ने एलएसी को पार किया तो इन मिसाइलों के जरिए उन्हें हवा में ही ध्वस्त किया जा सकता है। 

सरकारी सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया, ''सीमा पर मौजूदगी और ताकत को बढ़ाने के क्रम में भारतीय सेना और इंडियन एयरफोर्स ने एयर डिफेंस सिस्टम को तैनात कर दिया है, ताकि पीपल्स लिब्रेशन आर्मी (PLA) के लड़ाकू विमान या हेलीकॉप्टर्स यदि कोई दुस्साहस करते हैं तो उनको ध्वस्त किया जा सके।'' सूत्रों ने बताया कि भारत को जल्द ही एक मित्र देश से बेहद शक्तिशाली एयर डिफेंस सिस्टम मिलने जा रहा है, जिसे तैनात किया जा सकता है और इससे पूरे इलाके की रक्षा होगी। दुश्मन के किसी विमान को रोका जा सकता है।  सूत्रों ने बताया कि चीन के हेलीकॉप्टर्स LAC के बेहद करीब उड़ रहे हैं। मौजूदा तनाव वाले सभी स्थानों पर चीनी विमान उड़ रहे हैं, जिनमें दब सेक्टर नॉर्थ (दौलत बेग ओल्डी सेक्टर), गलवान घाटी, पेट्रोलिंग पॉइंट 14, 15, 17 और 17 ए के अलावा पैंगोंग त्सो फिंगर 3 इलाके के नजदीक उड़ रहे हैं। 

भारत के बेहद तेज एयर डिफेंस मिसाइलों में आकाश मिसाइल भी शामिल है जो बेहद तेज गति से उड़ रहे लड़ाकू विमानों और ड्रोन को भी कुछ ही सेकंड में मारकर जमीन पर गिरा सकता है। मोडिफिकेशन के बाद इसे पहाड़ों पर तैनाती के लिए तैयार किया जा चुका है।  पूर्वी लद्दाख में भारत के लड़ाकू विमान भी गरज रहे हैं। आसपास के एयरबेस से उड़ान भरने वाले ये लड़ाकू विमान हथियारों से पूरी तरह लोड होते हैं और जरूरत पड़ने पर बिना वक्त गंवाए अपने मिशन को अंजाम दे सकते हैं। भारत का सर्विलांस सिस्टम दुश्मन की हर गतिविधि पर नजर बनाए हुए है। मई के पहले सप्ताह में जब चीनी सैनिकों ने एलएसी की ओर कदम बढ़ाए उसके तुरंत बाद एयर फोर्स ने Su-30MKIs को पूर्वी लद्दाख में तैनात कर दिया। सूत्रों ने बताया कि चीनी हेलीकॉप्टर्स अपने दावे वाले क्षेत्रों में बार-बार आ रहे हैं। वे गलवान घाटी में एक कंस्ट्रक्शन साइट तक भी आते हैं।
 

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close